आखिर क्यों लिया पुलिस ने पूर्व विधायक को अपनी हिरासत में,पढ़िए खबर

Advertisement
ख़बर शेयर कर सपोर्ट करें

सितारगंज(उधम सिंह नगर)- उधम सिंह नगर जिले के सितारगंज मंडी परिसर में पिछले 2 दिनों से किसानों के धान को नहीं तोले जाने के मामले में सितारगंज मंडी पहुंचे पूर्व विधायक नारायण पाल को पुलिस व प्रशासन ने हिरासत में ले लिया है। जहां पूर्व विधायक सितारगंज नारायण पाल किसानों के समर्थन में धरना प्रदर्शन करने मंडी पहुंचे थे। वही उन्हें पुलिस प्रशासन ने मंडी गेट पर ही रोक कर उन्हें हिरासत में ले लिया गया है।

Advertisement
Advertisement

पूर्व विधायक नारायण पाल के अनुसार जहां पिछले 2 दिनों से सितारगंज व शक्ति फार्म के किसानों का धान मंडी में नहीं तूल पा रहा है। वही मंडी समिति अधिकारियों आर एफ सी व व्यापारियों के गठजोड़ के चलते किसानों का शोषण किया जा रहा है। जिसके विरोध में आज व सितारगंज मंडी में अपने प्रस्तावित कार्यक्रम के तहत धरना प्रदर्शन के लिए आए थे ताकि किसानों का शोषण बंद हो साथ ही किसानों की धान की फसल सुचारू रूप से तूल सके।

Advertisement

लेकिन उनके विरोध प्रदर्शन को देखते हुए सितारगंज पुलिस व प्रशासन ने उन्हें हिरासत में लिया है। अगर सितारगंज किसानों का धान नहीं तूल पाता है या किसानों को शोषण के चलते अपनी फसल को ओने पोने दामों में बेचना पड़ता है तो आगे भी वह अपने आंदोलन को चलाने के लिए तैयार रहेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  द इंडियन एक्सप्रेस' की वर्ष 2023 के लिए जारी की सूची
में देश के 100 मोस्ट पॉवर फुल इंडियंस की सूची में उत्तराखंड के सीएम धामी भी हुए शामिल

वहीं पुलिस क्षेत्राधिकारी सुरजीत सिंह सितारगंज का कहना है कि मंडी में जहां धारा 144 लगी हुई है लेकिन इसके बावजूद पूर्व विधायक नारायण पाल वहां अपने समर्थकों के साथ धरना प्रदर्शन के लिए पहुंचे थे। विधायक को मंडी गेट पर ही रोक कर धरना या अन्य कार्यक्रम ना करने हेतु समझाया गया लेकिन वह जब नही माने तो उन्हें हिरासत में लिया गया है।वर्तमान में सितारगंज मंडी परिसर में जहां किसानों के धान तोल की प्रक्रिया चल रही है ऐसे में वहां पर अशांति की स्थिति पैदा ना हो इसलिए प्रशासन द्वारा पूर्व विधायक को हिरासत में ले 151 कि चालानी कार्यवाही की है।

Advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *